Into-The-Wild-Movie-Story-in-Hindi

Into The Wild Movie Story in Hindi | Hollywood Movies Story in Hindi

Into The Wild Movie Story in Hindi: Filmy Diwana आज आपके लिए Into The Wild Movie Story in Hindi लेकर आया है. इस फिल्म की कहानी एक लडके के जीवन पर आधारित है जिसका नाम Chris McCandless (क्रिस मैककंडलेस). इसने एक ऐसी जिंदगी को चुना जिसे साधारण लोग जीने के बारे में कभी सोच भी नहीं सकते है. इस फिल्म की कहानी की शुरुआत May 1990 में होती है. क्रिस अपनी ग्रेजुएशन की पढाई में A ग्रेड हासिल करता है. जिसक वजह से उसके माँ बाप उसे एक नयी गाड़ी गिफ्ट देना चाहते है. लेकिन क्रिस नयी गाड़ी के लिए मना कर देता है. कुछ समय बाद क्रिस अपने सभी महत्वपूर्ण डाक्यूमेंट्स को नष्ट करने लगता है. जैसे की ID कार्ड्स स्कूल के डाक्यूमेंट्स सबकुछ. क्रिस के बैंक अकाउंट में उसकी पढाई के लिए $ 24000 होते है. वह यह सभी पैसों को किसी चैरिटी को डोनेट कर देता है और अपना बैग लेकर घर से निकल जाता है.

क्रिस अपनी माँ बाप के रिलेशन की वजह से खुश नहीं होता है और उसका दिल अब अपने घर में नहीं लगता है. इसलिए वह अपनी असली पहचान इस दुनिया से छुपाना चाहता है. इसलिए सभी डाक्यूमेंट्स को नष्ट करके वह अपनी कार में घर से निकल पड़ता है. रात होनेपर क्रिस एक जगह अपनी कार को पार्क करता है और कार में ही सो जाता है. लेकिन उसे यह पता नहीं होता है की यहापर बाड आती है. रात को बाड आती है और उसकी कार इस बाड में फंस जाती है. अब क्रिस को अपनी कार को उसी जगह पर छोड़कर आगे का सफ़र पैदल ही करना पड़ता है. लेकिन पैदल सफ़र करने से पहले वह अपनी कार की नंबर प्लेट निकाल देता है. ताकि यह कार किसकी है यह पता ना चले. क्रिस के पास जितने भी डॉलर्स होते है वह सब जला देता है. अब क्रिस के पास एक भी डॉलर नहीं होता है और उसकी जेब बिलकुल खली हो चुकी है.

Into the wild explained in Hindi

क्रिस अपना आगे का सफ़र किसी भी गाड़ी में लिफ्ट लेकर पूरा करने लगता है. जहापर भी उसे अच्छा लगे वहापर ही वह सो जाता है. वह अपना नाम बदलकर Alexander Supertramp रखता है. इसी सफ़र के दौरान क्रिस एक कपल से मिलता है. वह उनकी गाड़ी में लिफ्ट लेता है उसे पता चलता है की वह भी क्रिस की तरह है सिर्फ क्रिस पैदल सफ़र करता है और यह कपल गाडी में सफ़र करते है. क्रिस कुछ दिन इन दोनों के साथ ही बिताता है. कुछ दिन इन दोनों के साथ रहने के बाद क्रिस अपना आगेका सफ़र तय करने के लिए निकलता है. दरसल क्रिस को अलास्का जाना होता है और वह अभीतक नॉर्थन कैलिफ़ोर्निया था और इसके बाद वह पहुच जाता है ईस्टर्न साउथ डेकोटा. अब क्रिस को अपने घर को छोड़े 2 महीने हो चुके है. इसके बाद उसकी मुलाकात होती है वेन वेस्टरबर्ग से जिसके पास बहुत बड़ा खेत का कॉन्ट्रैक्ट होता है और उसके खेतों में काम करता है. इन खेतो के काम को करते हुए क्रिस अपनी जिंदगी का मजा लेता है. क्योंकि यहापर क्रिस अपनी जिंदगी अपने तरीके से जीता है.

क्रिस कुछ दिन यहापर काम करने के बाद वेन वेस्टरबर्ग से एक बंदूक को मांगता है क्योंकि उसे अलास्का जाना होता है और उसे पता है की वहापर जंगली जानवर भी होंगे. तो वह अपनी रक्षा करने के लिए एक बंदूक मांगता है और वेन वेस्टरबर्ग उसे एक बंदूक दे देते है. अब क्रिस अपना आगे का सफ़र शुरू कर देता है और उसे रस्ते में कोलारेडो नदी मिलती है. जिसे उसे पार करना होता है. लेकिन इस नदी को पार करने के लिए परमिशन की जरुरत होती है इसलिए क्रिस परमिशन लेके के लिए ऑफिस में जाता है. तो उसे पता चलता है उसे अप्प्लिकेशन करनी होगी और औसा ना वेटिंग लिस्ट में आयेंगा. इस वेटिंग लिस्ट के हिसाब से उसका नंबर 12 साल के बाद आयेंगा. जबतक उसे वेटिंग लिस्ट में अपना नाम दर्ज करके रखना होंगा. लेकिन क्रिस बिना किसी परमिशन के इस नदी में अपनी नाव लेकर उतर जाता है. आगे जाकर उसे एक और कपल भी मिलते है. उनसे बात करते हुए क्रिस को पता चलता है की इसी नदी के सहारे वह मैक्सिको भी जा सकता है. तभी वहापर पोलिस आ जाती है जो क्रिस को पकड़ना चाहती है क्योंकि उसने बिना परमिशन लिए इस नदी को पार किया था. लेकिन क्रिस वहासे भागने में कामियाब हो जाता है. इस नदी के सहारे अब क्रिस मैक्सिको पहुच जाता है.

Into The Wild Explained Movie Explain in Hindi

मैक्सिको पहुचने से पहले उसे नदी के रास्ते में एक गुफा मिलती है वह इसी गुफा में रहने की सोचता है और इस गुफा में वह 36 दिनों तक रहता है. यहापर रहते हु वह जिंदगी को और नेचर को बेहद करीब से देखता है. इसके बाद क्रिस शहर पहुच जाता है. लेकिन शहर में पहुचकर उसे घुटन सी होने लगती है इसीलिए वह अगले सफ़र के लिए निकल पड़ता है. आगे का सफ़र पूरा करने के लिए वह ट्रेन का सहारा लेता है लेकिन उसके पास पैसे नहीं होते इसीलिए वह मालगाड़ी में सफ़र करता है. लेकिन एक बार उसे रेलवे पोलिस पकड़ लेती है और उसे बहुत मारती है. अब क्रिस सफ़र करने के लिए दोबारा लिफ्ट मांगना शुरू करता है. सफर करते हुए उसकी मुलाकात उन्ही कपल से होती है जिन्हें वह अपने सफ़र के दौरान सबसे पहले मिला था. यहिपर उसकी मुलाकात एक लड़की से भी होती है जिसका नाम ट्रेसी टैट्रो होता है. ट्रेसी क्रिस को बहुत पसंद करती है. लेकिन क्रिस उसे ज्यादा रिस्पोंन्स नहीं देता है क्योंकि उसे आगे के सफ़र पर जाना होता है. कुछ वक़्त वहापर बिताने के बाद वह पना अलास्का का सफ़र शुरू कर देता है. सफ़र के दौरना वह एक जगह रुक कर अपना कैंप लगता है और वहापर उसकी मुलाकात एक बूढ़े आदमी से होती है जो रिटायर्ड आर्मी ऑफिसर है. उसे क्रिस अच्छा आदमी लगता है वह उसके साथ वक़्त बिताता है और वह उसे अपना लेदर का काम सिखाता है. यहापर क्रिस अपने लिए लेदर का बेल्ट बनता है और उसमे अपनी पुरे सफ़र के बारे में सबकुछ मेंशन करता है.

क्रिस यहापर 2 महीने बिताने के बाद तय करता है की वह अब अलास्का जायेंगा. वह आदमी उसे जानेके लिए रोकता है और तुम हमेशा यही पर रहना मेरा पोता बनकर. लेकिन क्रिस उस बूढ़े आदमी को कहता है की में अलास्का से आकर तुमसे मिलूँगा और इस बारे में सोचूंगा. क्रिस कहता है कि मुझे अब अलास्का जाना ही होंगा. एक बार फिर वह लिफ्ट लेते हुए अपना सफ़र शुरू करता है और लास्का के बॉर्डर पर उसे उतारा जाता है. लिफ्ट देने वाला उसे अपने लम्बे शू भी देता है. क्रिस अब वहापर आ गया है जहापर उसे जाना था. उसे अब अपने घर को छोड़े हुए 21 महीने हो चुके है. काफी आगे जाने के बाद उसे एक नदी को पार करना होता है. तो वह नदी के किनारे पर एक पेड़ पर अपनी टोपी अटका देता है. ताकि जब उसे वापिस आना हो तो उसे पता चले की वह यहासे इस जगह आया था. इस नदी को पार करने के बाद वह वहीपर अपना कैंप लगता है. यहापर चारो तरफ सिर्फ बर्फ ही बर्फ होती है और आसपास कोईभी इन्सान नहीं होता है. वह यहापर रहने लगता है और अपने बन्दुक से जंगली जानवरों का शिकार करता है और उन्हें खाने लगता है.

Hollywood Movie Into The Wild Story in Hindi

यह्पर क्रिस को एक बस दिखती है जिसमे एक गद्दी होती है रहने के लिए अच्छी सी जगह होती है. इस बस को इस मूवी में मॅजिकल बस का नाम दिया गया है. क्रिस इस बस को बहुत अच्छे से साफ करता है और इसी बस के अन्दर रहना शुरू कर देता है. अपना पेट भरने के लिए वह शिकार भी करता है. क्रिस यहापर वह जिंदगी जीने लगता है जो उसे पहले से ही चाहिए थी. उसे एक आदत भी होती है की वह हररोज डायरी में अपने रोज के सफ़र के बारे में लिखकर रखता था. शुरू में उसके दिन यहापर अच्छे बित रहे थे. लेकिन उसे अब खाने के लिए ज्यादा कुछ नहीं मिल रहा था और उसका वजन भी कम हो रहा था. जो बेल्ट उसने बनायीं थी वह उसे बार बार चेक करता था. उसका खाना ख़त्म हो गया था इसीलिए उसने सोचा की वह एक बड़े जानवर का शिकार करेंगा जिससे वह ज्यादा दिनों तक उसे खा पायेंग. वह एक बड़े जानवर का शिकार भी करता है लेकिन वैसा नहीं होता है जैसा उसने सोचा था. जो शिकार उसने किया था उसका सारा मॉस सडना शुरू हो जाता है. इसकी वह्ज से वह बहुत निराश होता है. लेकिन उसे समझ आता है की कुदरत के आगे किसी की भी नहीं चलती है.

कुछ समय यहापर बिताने के बाद यह अहसास होने लगता है की खिशियाँ बाँटने से बढती है. इसलिए वह वापस अपने घर जाने की सोचता है. वह अपनी बैग को पैक करता है और घर की तरफ निकलता है. लेकिन वह देखता है की जिस नदी को वह पार करके आया था वह बहुत ही जोरो से बहाने लगती है और उसे पार करना नामुनकिन है. उस नदी में क्रिस गिर जाता है और मरते-मरते बच भी जाता है. वह वापस अपनी बस में आता है और कुछ दिन वहीपर बिताने लगता है. क्रिस की बन्दुक की गोलियां भी ख़त्म हो चुकी है जिसकी वजह से वह शिकार नहीं कर सकता है इसिलिए वह जंगली पेड़ पौधों को खाना शुरू कर देता है.

Into The Wild Movie Story in Hindi Story in Hindi/ Urdu

क्रिस के पास एक किताब भी होती है की किस जंगली पोधे को खाया जा सकता है. लेकिन उसे एक पौधे में कंफ्यूजन हो जाता है वह होता है “वाइल्ड पोटैटो” और “वाइल्ड स्वीट मटर”. वह दरसल वाइल्ड स्वीट मटर की जगह वाइल्ड पोटैटो खा लेता है.और उसकी वजह से उसके शरीर में पोइसन फ़ैलने लगता है. वह पहले से ही कमजोर हो गया था लेकिन पोइसन की वजह से अब वह और ज्यादा कमजोर होता है और वह अपने लिए खाना भी नहीं ला सकता है. यहापर आकर क्रिस को 100 दिन बीत जाते है और वह बहुत ही कमजोर हो गया है और पोइसन की वजह से वह धीरेरे धीरे मर रहा है. लेकिन अभी भी वह अपनी डायरी लिखता रहता है और वह अपनी जिंदगी की आखरी दिनों में अपनी डायरी में लिखता है की “Happiness only real when shared”.

जब उसे यह अहसास होता है की वह अपनी जिंदगी की आखरी दिन गिन रहा है तो वह अपनी स्लीपिंग बैग में लेट जाता है और अपने माँ बाप को याद करने लगता है. और इस दुनिया के लिए एक नोट लिखता है . जिसमे लिखा होता है “I have had a happy life and thank the lord. Good bye and may god bless all”. जिसके बाद 6 सितम्बर 1992 को क्रिक की आँखे हमेशा के लिए बंद हो गयी और उसने इस दुनिया को अलविदा कहा.

Into The Wild Explained Movie Explain in Hindi/ Urdu

इस पूरी बायोग्राफी से हमें यह सिख मिलती है की अपनी जिंदगी को अपने तरीके से और अपनी मर्जी से जरुर जीना चाहिए. लेकिन वह जिंदगी आखिर क्या जिंदगी जिसमे अपने लोग अपने साथ ही ना हो. यह फिल्म 19 October 2007 को release की गयी थी और इस फिल्म की IMDB पर रेटिंग 8.1 है. इस फिल्म का बजट $15 मिलियन डॉलर्स था और इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिसपर $56 मिलियंज डॉलर्स की कमीई की थी. तो यह थी Into The Wild Movie Story in Hindi उम्मीद करते है आपको यह स्टोरी पसंद आयी होंगी.

REA MORE POSTS

Leave a Reply

Your email address will not be published.